Search This Blog

Wednesday, June 30, 2010

घर में बार बार मृत्यु होना


  • किसी के घर में कम उम्र में लोग मर जाते हों तो वो बड़ा कटोरा लेकर उस में पानी भर के उस कटोरे में धातु का (मेटल का) कछुआ रखे l महामृत्युंजय मंत्र का जप करें और कछुए को तिलक कर के कटोरा ईशान कोण में रख दे ........ऐसा या ११ अमावस्या तक करें ......लोटा पानी से भर के रखें .... वें या ११ वीं अमावस्या को गीता के वें अध्याय का पाठ करें .....छत पे जाकर सूर्य भगवान को प्रार्थना करें कि.......यमराज आप का बेटा है, आप हमारी प्रार्थना उन तक पहुंचा दीजिये ....हमारे घर में ऐसी मृत्यु होती है.......दोबारा ऐसा ना हो इसलिए जो गुजर गए, उन को गीता पाठ का पुण्य अर्पण करते हैं.......ऐसा या ११ अमावस्या तक करें


  • आठ चिरंजीवी का स्मरण करें = अश्वतथामा, बलि राजा, वेद व्यास जी, हनुमान जी, विभीषण जी, कृपाचार्य जी , परशुरामजी, महामुनि मार्कंडेय जी इनका स्मरण करें और प्रार्थना करें कि हमारे घर के व्यक्ति आप के जैसे चिरंजीवी तो नहीं हो सकते लेकिन उन की आयुष्य लम्बी हो इसलिए हम आप का सुमिरन करते हैं।


  • Listen Audio


Sureshanandji - Bhivani 23rd June 2010



No comments: