Search This Blog

Tuesday, February 24, 2009

स्वप्नदोष, धातु सम्बंधित तकलीफें

जिसको स्वप्नदोष, धातु सम्बंधित तकलीफें हैं, उनके लिए सरल उपाय हैं, सूर्य-अस्त क बाद अँधेरा होने क पहले, पश्चिम (west) में एक ही तारा होता हैं- शुक्र का तारा , वहा चमकता हैं। उसको यह मंत्र बोले:
हेमकुंदमृणालाभं दैत्यानां परमं गुरुम् |
सर्वशास्त्रप्रवक्तारं भार्गवं प्रणमाम्‍यहम् ||

ॐ शुक्राय नमः,
अगर घर पर हो तो दीपक भी दिखा दें नहीं तो सिर्फ़ मंत्र बोले. स्वप्नदोष, धातु की तकलीफों में बहुत लाभ होता हैं, शरीर में शुक्र मजबूत होता हैं ।
कोई खर्चा नहीं हैं.कोई भी दिन कर सकते हैं। शुक्रवार को करो तो और अच्छा हैं ।
जिसको यहाँ प्रॉब्लम हैं वे मानते हैं की यहाँ ग़लत आदत हैं और यहाँ मुझमे हैं। यहाँ आदत आप में हैं तो आपसे अलग हैं। आप अपने को शुद्ध, बुध आत्मा जानो। इस तरह इससे बच सकते हों। दृढ विश्वास रखें।
Listen Audio
-श्री सुरेशानंदजी 30th Jan09, Mumbai

1 comment:

Arshad said...

asi takaliph sirph hi soch badlne se sahi ho sakti hai pr sote m hamara dimag north pol and south pol ke dreaction mai moment karne lagta hai esliye hame meditation karke sona chahiyeor exercise mai cyciling or yog karne chahiye pr daily