Search This Blog

Wednesday, May 30, 2012

गंगा स्नान का मंत्र

गंगा स्नान के लिए रोज हरद्वार तो जा नही सकते, घर में ही गंगा स्नान का पुन्य मिलाने के लिए एक छोटा सा मन्त्र है ..
ह्रीं गंगायै ह्रीं स्वाहा
ये मन्त्र बोलते हुए स्नान करे तो गंगा स्नान का लाभ होगा | गंगा दशेरा के दिन इसका लाभ जरुर लें .... 31st May' 2012

Listen Audio

-12th October 2008, Faridabad

video

Tuesday, May 29, 2012

बाते छोटी काम बड़े

  • बाथरूम के लिए गए, हाथ-पैर धो लो | ३ बार कुल्ला करो | आँख और कान को पानी का स्पर्श कराओ | शुद्धि रखे | अशुद्धि नहीं | गंदगी नहीं | स्वच्छता बाहर की मन की पवित्रता में बहुत काम देगी... बहुत काम देगी |
  • भोजन करें तो दो हाथ, दो पैर, मुँह ये पाँच अंग धोकर भोजन करे | बहुत फायदा होगा | स्वच्छता......
  • पानी पियें, सभा में बैठे हो तो बात अलग है पर बाहर कही हो तो पानी पिए तो एक बार कुल्ला करें | स्वच्छता..... शरीर नीरोग रहेगा | आजकल लोग अपना शरीर भी नीरोग नहीं रख पाते | बीमारियाँ ढेरों होती है | बीमारियाँ हो ही क्यों? अगर हो तो टिके क्यों? हम ऐसी स्वच्छता रखे |
  • एक दूसरे को झूठा पानी पी रहें हैं | सबके अपने-अपने संस्कार होते हैं | ऐसा ना हो | आपसी प्रेम अलग बात है | झूठा पीना ... एक दूसरे का झूठा खाना.... जो अपना झूठा दूसरे को खिलाता है न उसके पुण्य नष्ट होते हैं | खिलने वाले के... जो अपना झूठा दूसरों को खिलते हैं | खा-खा कोई बात नहीं | उसके पुण्य भी स्वाहा हो जाते हैं | इसलिए अशुद्धि नहीं स्वच्छता....
  • घर में रोज बहनें ध्यान रखे नाश्ता होने से पहले सफाई हो जाए | आपके घर में लक्ष्मी ना आये तो कहना | और गंदगी पड़ी है कोई नाश्ता कर रहा है, कोई कुछ कर रहा है तो लक्ष्मी क्यों आएगी वहाँ पर | लक्ष्मी को स्वच्छता पसंद है |
  • बहनें सुबह कभी घर से बाहर जाती हो तो घर में सफाई करके घर से बाहर जाए | ऐसे घर में लक्ष्मी अंदर आती है | ये बातें बहुत छोटी-छोटी है पर काम बहुत आएगी | घर में सुबह नाश्ता हो उससे पहले सफाई हो जाए |घर में लक्ष्मी का वास होगा |
  • रात को घर में झूठे बर्तन रखकर ना सोएं | एक भी बर्तन घर में झुता रख कर ना सोएं | आपके घर लक्ष्मी जरुर आएगी और स्थाई वास करेगी |पलंग पर जहाँ आप सोते है वहाँ झूठे बर्तन मत रखो | आपके घर लक्ष्मी आये बिना नहीं रहेगी |
  • शाम हो गई कपड़े सुखाने बाहर डाले, वो ले लो | शाम के बाद कपड़े डाले रात को तो उसमे मलिनता प्रवेश करती है | ये बातें छोटी-छोटी....
  • घर में टूटे-फूटे बर्तन मत रखो | जिनके घर में टूटे-फूटे बर्तन होते हैं, महाभारत में लिखा है- कोई ऐसे वैसे ग्रन्थ की बात नहीं है |टूटे-फूटे बर्तन रखते हैं ऐसे घर में झगड़े ज्यादा होते हैं |
  • शादियों में जाते हैं, जाओ माना नहीं है | भले आपके बेटे की, भतीजे की भतीजी की शादी है जाओ पर शादी में क्या करते हैं फूल फेंकते हैं तो गुलाब के फूल पर पैर रखने से लक्ष्मी चली जाएगी| गुलाब के फूल में लक्ष्मी का वास होता है | फूल तो गुरु और ईश्वर को अर्पण करने के लिए होते हैं, हमारे पैरों तले कुचलने के लिए नहीं हैं | इसलिए बारातों में ऐसी बेवकूफी नहीं करनी चाहिए | गुलाब के फूल उछाल रहें हैं... पैरों में नहीं आने चाहिए | बात छोटी है पर काम की है |
  • खाना खाओ तो पूर्व या उत्तर की ओर मुहँ करके खाना खाओ | तबियत बढ़िया रहेगी |
  • सोना है तो पूर्व या दक्षिण की तरफ सिर करके सोओ | तबियत बढ़िया रहेगी | दवाइयाँ नहीं खानी पड़ेगी |
Simple practices for a better life

  • - After coming out of the toilet, make sure to wash both hands and feet. Gargle your mouth with water 3 times. Touch your eyes and ears with water. This ensures purity of your body. This external cleanliness greatly helps in sustaining the purity of mind.
  • - Before having meals, make sure to wash both hands, both feet and mouth. This is highly beneficial to maintain cleanliness.
  • - If you are drinking water directly in a meeting, that is acceptable. Else if you are outside, then gargle once before drinking water. Body remains healthy this way. Now days people are not able to keep their bodies fit. Their bodies are full of diseases. Why should it be so? Even if it does, then why should they prolong. We should take utmost care to avoid this by maintaining proper hygiene.
  • - One should not drink water from others' glasses. Every one has their own fortune. If there is mutual love, it is a different case. Drinking from other's glasses, eating leftovers of other's meals or offering a bite from one's own meal, reduces the virtues(punya) of both who offers and those who accept it. So, maintain hygiene... not impurity.
  • - All sisters must note that the home should be clean daily before breakfast time. It is not possible that Goddess Lakshmi wont arrive in your home after this practice. She wont arrive if you are having breakfast and there garbage lying around or if someone else is busy doing other activities. Goddess Lakshmi is supremely pleased with cleanliness.
  • - If sisters have to go out in the morning sometimes, make sure to clean the home before leaving. This way, Goddess Lakshmi will enter your home. These are very small things but with high benefits. Goddess Lakshmi also resides in homes where cleanliness is ensured before breakfast.
  • - Before going to sleep, make sure you do not leave even a single dirty utensil overnight. This way, Goddess Lakshmi will surely enter and permanently reside in your home. Also, make sure never to keep dirty plates or utensils near the sleeping bed.
  • - Make sure that there are no clothes hanging outside after evening time. During the night time, impurities can enter your clothes. These are very small aspects of daily healthy living. - Do not keep any broken utensils in your home. It is mentioned in the great scripture
  • - "Mahabharata" that keeping broken utensils in your home increases quarrels at home.
  • - People attend marriages, say of their sons or cousins and throw flowers during the occasion. Goddess Lakshmi goes away if rose petals are trampled later by the feet. Goddess Lakshmi resides in the rose flower. They are meant to be offered to Guru and God, not for crushing under our feet. So, people attending marriages must not make this mistake. Shower rose petals in a way such that they do not fall near/under any person's feet. It is a subtle concern but is very useful once followed.
  • - While having meals, always face towards the east or the north. This helps maintain good health.
  • - While sleeping, make sure that the head points towards the south or the east. This helps maintain good health. You will not feel the need for medicines.
Listen Audio

- श्री सुरेशानंदजी Gorakhpur 19th April' 2012

सुख समृद्धि और सौभाग्य की बढोती के लिए व्रत :-

जेष्ट मास में सुहागन देवियों के लिए व्रत "उमा ब्रह्मणि व्रत" ... भविष्‍योत्‍तर पुराण के अनुसार ज्‍येष्ठ शुक्ल नवमी ३० मई '२०१२ को हो सके तो आसपास कन्याएं - बेटियां छोटी छोटी हो तो उनको दूध और चावल की खीर का भोजन कराये | खुद भी खायें और माँ पार्वती के नाम का थोड़ा जप कर दें ये मंत्र बोल कर |
ॐ पार्वत्‍यै नमः
ॐ शंकरप्रियायै नमः
ॐ गौरियै नमः
ॐ उमायै नमः
ये बोल कर माँ पार्वती को प्रणाम करे तो उस सुहागन देवी के घर में सुख समृद्धि और सौभाग्य की बढोतरी होती है |

Listen Audio




Vow to increase happiness, prosperity and good fortune

In Jyestha month(as per Hindu calender), all married ladies can take the vow of "Uma Brahmani Vrat"... As per Bhavishhyottar Purana, on the ninth day of Jyestha month i.e. on 30 May 2012, they should offer porridge (kheer ) made of milk and rice to daughters or small girls in and around their society. They should also consume some of it themselves and then offer prostrations to Maa Parvati through japa of following mantras:

AUM PARVATIYE NAMAH
AUM SHANKAR PRIYAYE NAMAH
AUM GAUREYYE NAMAH
AUM UMAYE NAMAH

Recite these mantras... Thus way, all married ladies should offer prayers to Maa Parvati which will increase happiness, prosperity and bring good fortune for the family. On the day of this vow, it is requested to all those sisters to do more japa both in the morning and dusk time in the evening.
- श्री सुरेशानंदजी Haridwar 9th May' 2012

Friday, May 25, 2012

वैशाखी पूनम :-

वैशाख मास की पूर्णिमा की कितनी महिमा है !! एस पूर्णिमा को जो गंगा में स्नान करता है , भगवत गीता और विष्णु सहस्त्र नाम का पाठ करता है उसको जो पुण्य होता है उसका वर्णन इस भूलोक और स्वर्गलोक में कोई नहि कर सकता उतना पुण्य होता है | ये बात स्कन्द पुराण में लिखी हुए है | अगर कोई विष्णु सहस्त्र नाम का पाठ न कर सके तो गुरु मंत्र की १० माला जादा कर ले आपने नियम से |

Baisakh Poonam (Full moon of Baisakh month) :-

How glorious is the full moon day of the Baisakh month(as per Hindu calender)! The virtues earned by one who bathes in river Ganga on this day, who recites Bhagavvad Gita and Vishnu SahashtraNaam, are so immense that no one on this earth and heaven can ever extoll its virtues. This has been mentioned in Skanda Puarana. If one is not able to recite Vishnu SahashtraNaam on that day, as a rule, he must do extra Japa of 10 malas of Guru mantra.

Listen Audio

- श्री सुरेशानंदजी Haridwar 6th May’ 2012

सोने का नियम :-

रात को सोये तो २-५ मिनट शीधे लेट कर आराम करो ..श्वास भीतर जाये और भर आये उसको देखो ..बाद में नींद आने लगे तो बायीं करवट ले कर सो जाओ | ताकि हमारी नींद में दायाने स्वर से श्वास चले | खाया हुआ हजम हो | फिर नींद में भले करवट बदल भी लेते है पर सुरुआत आप बायीं करवट से करो | दुपहर को भी खा के आराम करते हो ना तो दाई करवात नहीं लेटना चाहिए | दुपहरको सीधा थोड़ा लेटे फिर बायीं करवटलेटे | तो सूर्य स्वर चलेगा ..नाक का दाया स्वर सूर्य स्वर कहलाता है ... वो खाना पचाता है | रोग प्रतिकारक शक्ति बढ़ेगी ॥स्वास्थ्य अच्छा रहेगा |

Rules of sleep :-

Before going to sleep at night, lie down flat and relax for 2-4 minutes... Breathe in...Observe your full breath... then once you feel sleepy then move on your left side and go to sleep. This is to be practised so that we breathe from our right nostril during sleep. This aids digestion of the meal. You may then sleep later on any side but should always start with your left side. Even while relaxing in the afternoon, you should never sleep on the right side after lunch. In aftenoon as well, lie down flat for a while and then move on your left side. Then the Surya(sun) breath with activate... 'Breathing thorugh right nostril is called Surya breath' while aids digestion. This also helps improve immunity power. You will find yourself in good health.

Listen Audio


- श्री सुरेशानंदजी Gorakhpur 19th April’ 2012

शनि की पनोती हो तो :-

किसी को शनि का दोष है | कोई बोले के आप को शनि की पनोती है इसलिएआप के घर में दुःख है या पैसो की तंगी है तो आप गन्ने का रस शिवलिंग पेजप करते हुए चढ़ाये, फिर जल चढ़ाये, फिर छाझ (खट्टी न हो ऐसी छाझ) से अभिषेक करे |बेल पत्ते चढ़ाये | गुरु मंत्र जप करे ..लाभ ही लाभ !!

Troubled by Shani (Saturn) :-

Some of us are inflicted with Shani Dosh (ill fate inflicted by Saturn). If you are informed that you have troubles at home or financial problems because of the same, then offer sugarcane juice on Shivlinga, do Japa, then offer water, then offer buttermilk(Chaas, it must not be sour). Also, offer Bel(wood apple) leaves . Do japa of Guru Mantra again.... You shall be supremely benefited!

Listen Audio

- श्री सुरेशानंदजी Haridwar 6th May’ 2012

लीवर बढ़िया रखने केलिये:-

एक चुटकी चावल कभी कभी फाक लिया करो लीवर बढ़िया रहेगा |

Keep liver in good shape :-

Once in a while, eat a pinch of rice. This helps keep liver in good shape.

Listen Audio

- पूज्य बापूजी Gorakhpur 19th April’ 2012