Search This Blog

Monday, February 25, 2008

पानी प्रयोग

देवियों को मासिक धर्म की दिक्कत हो तो painkiller/injections न लें, बहुत नुक्सान करते हैं कोइ भी स्त्रियों की गुप्त बिमारी हो, रात को पानी रख लो सवा लीटर तांबे का बर्तन हो तो ठीक है, नहीं तो किसी में, सवेरे मंजन करके, ब्रश करने से फायदा नहीं होता मंजन करना चाहिए, मैं (गुरुदेव) भी मंजन करता हूँ मंजन करके तुलसी के 5 पत्ते खा लिए लेकिन इतवार को तुलसी नहीं खाना, नहीं तोड़ना 5 पत्ते खा लिए और पानी पी लिया वैसे तो सूरज उगने पर ही पानी पीना चाहिए, रात्रि को पानी पीना जठरा मंद करता है रात्रि को देर से भोजन करना बिमारी लाता है और दिन में भोजन करके सोना बिमारी लायेगा ये बातें समझ लो तो आप निरोग रह सकते हो तो वो पानी पी लिया सवा लीटर, थोड़ा घूमे फिरे, 8 दिन के अंदर कब्जियत की बिमारी, पेट साफ नहीं आता तो आने लगेगा, मासिक में पीड़ा होती है तो पीड़ मिट जायेगी, ज्यादा/कम आता है तो ठीक हो जायेगा

-28th September 07, Ujjain

2 comments:

prakash said...

Hari Om, It is a very nice website. I can take our Bapuji's darshan & can hear satsang easily. I think that this is very nice gift me for the new year 2010 from you. I am thankful to you for it.

prakash said...

Hari Om, from this I could understand the importance of pani-prayog which is very helpful for our daily life.